Beti Ne Samjha Mera Dard


Click to Download this video!
Arashdeep Kaur 2017-02-13 Comments

मैंने सायरा से पूछा कि क्या तुमने पहले कभी सेक्स किया है तो उसने हां बोल दिया। मैंने उससे पूछा किस के साथ किया है। उसने कहा आप गुस्सा हो जाओगे तो मैंने अल्लाह की कसम खा कर कहा गुस्सा नहीं करूंगा। मुझे लगा सायरा का किसी लड़के के साथ चक्कर होगा, उसके साथ करती होगी लेकिन उसका जवाब सुन कर मैं हैरान हो गया और सोचने लगा कि एक ऐसी लड़की जिसकी शराफ़त की कसम पूरा मुहल्ला खाता है वो इतनी चुद्दकड़ है। यह कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है..

जिस लड़की की मिसाल मुहल्ले वाले अपनी बेटियों को देते हैं वो इतने मर्दों से चुद चुकी है। उसने बोला पापा मैंने दो प्रोफेसर, कॉलेज के प्रिंसिपल व उसके तीन दोस्त, उसकी कॉलेज की बस के ड्राइवर व कंडक्टर, चार लड़कों और कॉलेज के पास के दो किताबों के दुकानदारों से सेक्स किया है। मुझे एक बार बहुत गुस्सा आया लेकिन मैंने खुद पर काबू किया। मैंने उससे पूछा कि उसने इतने मर्दों से संबंध क्यों बनाया।

उसने कहा कि पहली बार उसने परीक्षा में ज्यादा नंबर लेने केलिए अपने एक प्रोफेसर से सेक्स किया था। उस प्रोफेसर ने उसको कई बार चोदा और एक दिन उसने अपने साथी प्रोफेसर से उसको चुदवा दिया। थोडे़ दिन बाद ये बात प्रिंसिपल को मालूम हो गई और उसने सायरा को कॉलेज से न निकालने के इवज में चोदा।

उसके बाद वो उन तीनों की रखैल बन गई और उसे अलग अलग लंड लेने का चस्का लग गया। जब भी कोई अच्छा मर्द उसको दिखाई देता है तो वो फिसल जाती है। उसकी आग तब तक शांत नहीं होती जब तक वो उस मर्द से चुदाई नहीं करती। मैं उसकी बातें सुनता हुआ उसका चेहरा देख रहा था। अब मुझे सायरा में अपनी बेटी नहीं एक गर्म रंडी दिख रही थी जो मेरा बिस्तर गर्म करने वाली थी।

मैं सायरा के बारे सोचने लगा और मुझे अब समझ आई कि सायरा का प्रिंसिपल उसकी इतनी तारीफ क्यों करता है। मुझे लगा था मेरी बेटी बहुत लायक है तभी इतनी तारीफ होती है लेकिन अब मालूम हुआ कि उसका प्रिंसिपल सायरा के की चूत का दीवाना है तभी तारीफ करता है। मैं सोचते-सोचते पिछली बातों में खो गया।

जब सायरा ने मेरे मुरझाए लंड को पकड़ कर मेरी गाल को चूमते हुए बोला क्या हुआ पापा तब मेरी सोच की लडी़ टूटी। मैंने कहा कुछ नहीं बेटा सोच रहा था मेरे बेटी कितनी चालू है। इससे पहले मैं कुछ और बोलता, सायरा ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और मेरा लंड अपने हाथ से हिलाने लगी। मैं अपने होंठों पर सायरा के नर्म व रसीले होंठों का और अपने लंड पर सायरा के कोमल हाथ का स्पर्श पाकर मदहोश होने लगा।

सायरा मेरे होंठों को बहुत प्यार से चूमते हुए मेरे लंड को हिलाने लगी। मैंने अपने हाथों से सायरा के बूब्ज़ पकड़ लिए और उसके होंठों को चूमते हुए सायरा के बड़े-बड़े, गोल, तने हुए और मुलायम बूब्ज़ दबाने लगा। उसकी बदन की गर्मी से मेरा लंड फिर से खड़ा होकर चुदाई केलिए तैयार हो गया। मैंने सायरा का सिर अपनी गोद में रख लिया और हम एक-दूसरे के होंठों को चूमने लगे। हम दोनों काफी गर्म हो गए और एक-दूसरे के होंठों के मुंह में खींच खींच कर चूसने लगे।

तभी सायरा ने अपनी जीभ मेरे मुंह में धकेल दी और मेरी जीभ को चाटने लगी। मैं एक हाथ से सायरा के बूब्ज़ दबाते हुए उसकी जीभ को चूसने लगा। हम दोनों एक-दूसरे के मुंह में जीभ डालकर घुमाने लगे और एक-दूसरे की जीभ का रस चूसने लगे। हम एक-दूसरे के होंठ चूम कर, दांतों से होंठों को काटकर और जीभ को एक-दूसरे के मुंह में डालकर रसपान करने लगे। हम पर इतनी मस्ती छा गई थी कि सब कुछ भूल कर चूमा चाटी कर रहे थे।

सायरा ने मेरी गोद में सिर घुमा लिया और मेरे लंड को मुंह में ले लिया। उसके नर्म रसीले होंठों का स्पर्श पाकर और उसके मुंह कई गर्मी महसूस करके मेरा लंड और भी फड़फड़ाने लगा। मैं सायरा के बूब्ज़ मसलते हुए लंड चुसाई का मजा लेने लगा। मेरी बीवी की मौत के बाद आज मेरा लंड पहली बार किसी लड़की के छेद का मजा ले रहा था वो भी मेरी अपनी चुद्दकड़ बेटी के छेद का। इतने सालों बाद किसी लड़की के मुंह में लंड डालने से मुझे बहुत सकून मिल रहा था। मैंने सायरा को बैॅड पर लेटा दिया और उसके नाजुक, मुलायम और चिकने पेट को चूमने और चाटने लगा। वो नीचे लेटी हुई मचल रही थी। जब मैं उसकी नाभि में जीभ डालकर चाटने लगता तो सायरा मस्ती में मचलती हुई मेरे बाल नोचने लगती।

अब मैं उसके बूब्ज़ चूसने और दबाने लगा। उसके बूब्ज़ मुझे बहुत सेक्सी लग रहे थे। ऐसा लग रहा था जैसे मैं जन्नत की हूर का मजा ले रहा हूं। मैं अल्लाह का शुक्रिया कर रहा था जिसने मुझे ऐसी खूबसूरत, सेक्सी और गर्म बेटी दी और अपनी किस्मत पर नाज हो रहा था कि मैं अपनी जवान बेटी के नंगे बदन का मजा लूट रहा हूं। मैं सायरा के बूब्ज़ को जोर जोर से चूसने लगा और सायरा मेरे सिर को अपने बूब्ज़ पर दबाने लगी। मैंने सायरा के निप्पलों को चूसते हुए अपनी एक उंगली सायरा की चूत में घुसा दी।

सायरा मस्ती से चहक उठी और वो मेरे सिर को अपने बूब्ज़ पर दबाते हुए अपनी गांड उठा उठाकर उंगली चूत में लेने लगी। मैं सायरा की चूत में उंगली हिलाते हुए उसके बूब्ज़ व निप्पलों को दांतों से काटने लगा। मेरे चूसने और काटने से सायरा के बूब्ज़ पर लाल निशान बन गए लेकिन उसको बहुत मजा आ रहा था।

Comments

Scroll To Top