Meri Biwi Aur Mera Padosi


Click to Download this video!
secc456 2016-10-05 Comments

सुधा तब तक कोल्ड ड्रिंक्स ले कर आ गयी सभी ने कोल्ड ड्रिंक्स पिया और मनोज रिपेयरिंग में लग गया अमित ने कहा भाभी ये मनोज और मैंने आप जैसी कितनी मशीनों को ठीक किया है जिस भी मशीन को हाँथ लगाया वो काफी अच्छी चल रही हैं कभी कभी हम आयल ग्रीस डाल देते हैं।

सुधा ने कहा कि मेरी मशीन का तुम क्या करोगे तो अमित ने कहा की भाभी आपकी मशीन तो अनमोल है हमारे लिए इसे तो आराम आराम से करेंगे तब तक मनोज ने कहा की भाभी इसे बना देते हैं।

उसने अमित को इशारा किया और सुधा से बोला की आप अपने बाथरूम से कपडे ले आओ साफ़ कर कर टेस्ट करेंगे कि मशीन ठीक से काम कर रहा है की नहीं सुधा बेडरूम के बाथरूम में जाने लगी अमित भी पीछे चल दिया मैं लैपटॉप में सब देख रहा था मुझे गुस्सा आ रहा था किये जरूर आज सुधा के साथ कुछ करेंगे।

वैसे उनकी डबल मीनिंग टॉक सुन कर मैं काफी रोमांचित हो गया मैंने जान लिया की ये आज थीसम के मूड में हैं मेरा एक मूड कर रहा था कि जा कर उन्हें भगाऊं तो दूसरा मन कर रहा था कि सुधा ने तो बाहर का लंड ले ही रखा है दो और ले लेंगे तो क्या हो जायेगा आज दो लड़कों के साथ उसका सेक्स एन्जॉय करूँ इसके बाद सुधा को समझा देंगे।

सुधा बाथरूम में गयी अमित ने कहा की भाभी कपडे मैं ले चलता हूँ बहुत कपडे हैं अमित कपड़ों को बाल्टी में डालने लगा तब तक उसके हाथों में ट्रांसपेरेंट ब्रा और पैंटी आ गए जो काफी महंगे थे।

अमित ने कहा की भाभी आप इसे भी वाशिंग मशीन में ही धोती हैं ये तो काफी महंगे हैं और ख़राब हो जायेंगे सुधा ने कहा की खराब होगा तो दूसरा आ जायेगा कौन हाँथ से साफ़ करे सुधा की सेक्सी ब्रा और पैंटी देख कर अमित काफी गरम हो गया था वैसे सुधा भी ट्रांसपेरेंट निघ्त्य पहनी हुई थी और उसका पूरा बदन दिख रहा था।

अमित ने सुधा के उसे किये हुए ब्रा और पैंटी को छू कर देखने लगा।और लगा उसे सूंघने उसने उन्हें अपने पॉकेट में रख लिया और बोला कि भाभी आप इन्हें उतार कर मुंझे दे दिया करें मैं इन्हें प्यार से धो दिया करूँगा सुधा बोली तुम बिलकुल बेशर्म हो ये कह कर वो अमित के पॉकेट से उसे निकालना चाहा।

और इस दौरान अमित के काफी करीब हो गयी अमित ने सुधा को पकड़ लिया और बोला की भाभी तिन महीनों की मेहनत आखिर रंग लायी बड़ा तरसाया है हमें आपने होली में तो आपको रंग लगाया लेकिन वैसा नहीं जैसे विक्की भैया और भैया के दोस्त ने लगाया सुधा ने कहा की तुम क्या चाहते हो विक्की ने और प्रतीक के दोस्त ने “कुछ भी तो नहीं किया है”।

अब अमित ने कहा की हमने भी खिड़की से देखा था आपको चुदते हुए लेकिन कुछ नहीं कहा सिर्फ इसी पल का इंतजार कर रहे थे हम आज हम भी आपको वही “कुछ नहीं” करेंगे जो उन्होंने किया था।

ये कह कर अमित ने सुधा को बाँहों में लेने लगा और किस्सिंग शुरू कर दिया तब तक उसने मनोज को आवाज दिया सुधा ने कहा की ये क्या बदतमीजी है जाओ यहाँ से तब तक मनोज भी आ गया सुधा ने कहा की मैं शोर मचाऊँगी।

अमित ने सुधा से कहा की भाभी आज हम लोगों से अपने मशीन की आयल पानी चेक करा लो रानी कोई भी तो नहीं है ये कह कर उसने मनोज को सुधा का ब्रा और चड्डी दे दिया मनोज ने उसे सुंघा और चाटना शुरू कर दिया और अपने पेनिस पर रगड़ने लगा।

अमित ने सुधा को बाँहों में भर लिया था उसने कहा की भाभी गजब की माल लग रही हो तुम होली के समय से भी ज्यादा हॉट हो गयी हो ये कह का उसने सुधा की चुचियों को दबाना शुरू कर दिया।

सुधा बोली की अमित ये क्या है मत करो ये सब मुझसे वो तो एक एक्सीडेंट था अमित बोला की आज तुम्हें हम प्यार देंगे तुम जानती नहीं की कितना तरसे हैं हम तेरी जवानी का फल चखने के लिए आज हम दोनों मिल कर तुम्हें चोदेंगे और गांड मारेंगे।

ये कह कर अमित ने कहा की मनोज आज सुधा डार्लिंग को नंगी कर इन्हें देखेंगे और इनके बदन के साथ पूरा खेलेंगे मनोज ने सुधा की नाइटी खोल दी अब वो ब्रा और पैंटी में थी वो भागना चाह रही थी।

लेकिन अमित और मनोज ने आगे और पीछे से सुधा को जकड रखा था अमित पीछे आ गया और सुधा की गांड में लंड ऊपर से ही घुसा दिया और पूरा बदन चूमने लगा उधर मनोज चुचियों को दबाते दबाते लाल कर दिया था चूची एक दम कड़ी हो गयी थी और निप्पल तो फूल गए थे।

दोनों ने ब्रा और पैंटी भी निकाल डाला और लगे चाटने ऊपर से निचे तक सुधा के खिले हुए बदन को मनोज ने कहा की तुम आगे चाटो और मैं इनकी गांड चाटता हूँ सुधा अपने मखमली बदन को दोनों तरफ से चूमने चाटने से एकदम उत्तेजित हो गयी थी।

लेकिन उसने एक बार फिर अमित से कहा की अमित प्लीज मुझे छोड़ दो मैं हाँथ जोडती हूँ तुम लोगों से अमित ने कहा की तुम्हें क्या लगता है तुम्हारे कहने से हम तुम्हें छोड़ देंगे जानेमन जवानी के मजे लूटो देखो दो दो आदमी मिल कर तुम्हें कैसे चोदते हैं मनोज सुधा की गांड में अन्दर तक जीभ डाल दिया और अमित लगा बाछे के सामान सुधा की चूची पिने में वो उँगलियों को उसकी चुत में डाले जा रहा था।गजब सुन्दर गोल मटोल गांड थी।

Comments

Scroll To Top