Meri Biwi Aur Mera Padosi


secc456 2016-10-05 Comments

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार निचे कोममेंट सेक्शन में जरुर लिखे.. ताकि देसी कहानी पर कहानियों का ये दोर आपके लिए यूँ ही चलता रहे।

अब अमित ने सुधा को बाँहों में ले लिया और फिर से उसके रसीले लिप्स को चूमने लगा और बोला सुधा आज मजा आ गया अब तो मुझे तुम्हारे बिना तो रहा नहीं जायेगा सुधा बोली की शाम तक जितना प्यार करना है कर लो कल से नहीं बदनामी का डर है।

अमित ने और मनोज ने ऐसी जबरदस्त हसीना को उस दिन कई राउंड लिया मेरा बुरा हाल था मुठ मारते मारते बाद में जब मैं ऑफिस से घर आया तो सुधा बैड पर लेटी थी और उसने कहा की आज तबीयत ख़राब लग रही है।

मैंने उसे आराम करने दिया और निश्चय किया की कल मैं उससे खुल के बात करूँगा की अब उसे किसी से नहीं चुदवाना है मेरे सिवा लेकिन मैंने काफी एन्जॉय भी किया उनकी चुदाई।

Hindi Sex Story

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top