Sheetal.. Ek Chudakkad Customer


Click to Download this video!
Deep punjabi 2016-08-21 Comments

वो आःह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् !!! सीईईईईईईईई !! उई माँ !!!!!!!! ह्म्म्म्म्म्म !! सीईईईईईई की कामुक आवाज़ निकालकर मौन करने लगी और अपने हाथ से बेडशीट को नोचने लगी। काम का वेग इतना के उसकी आवाज़ लड़खड़ा रही थी।

वो अपने कूल्हे उठा उठाकर चूत चटवा रही थी। करीब 5 मिनट बाद मुझे लगा उसकी चूत से सफेद नमकीन द्रव निकलने लगा है और उसके कूल्हों हिलने की स्पीड भी बढ़ गयी है और एक ज़ोरदार आअह्हह्हह की आवाज़ से उसके पानी से मेरा चेहरा भीग गया करीब 2 मिनट तक वो झड़ती रही।

फेर उसने आँखे खोली और मेरी तरह देखकर सॉरी बोली, अपने दुपट्टे से उसने मेरा भीगा चेहरा साफ किया और मुझे बेड पे लेट जाने का बोला, मैं उनके बेड पे लेट गया और उसने मेरा लण्ड पकड़ कर चूसना शुरु किया ही था के उसका पालने में सोया बेटा उठकर रोने लगा।

वह सॉरी बोलकर मुझे छोड़कर उसे उठाने चली गयी। इधर मुझे गुस्सा भी आ रहा था पर उसकी मजबूरी को समझते हुए कुछ न बोला। वह 10 मिनट बाद बच्चे को दुबारा सुलाकर मेरे पास आ गयी और बोली माफ़ करना आपका मूड बिगाड़ दिया आओ दुबारा आपका मूड बना देती हूँ।

मैं बेड पे लेटा तो पहले से ही था। वह मेरे ऊपर आकर मेरे होंठ चूसने लगी। उसके शरीर का स्पर्श पाकर पूरे तन बदन में करन्ट सा दौड़ गया और रोम रोम काम के वेग में खड़ा हो गया।

उसने अपनी मुठी में खड़े हुये लण्ड को पकड़ा और उसकी चमड़ी पीछे को हटाकर उसका सुपाडा निकाल कर मुह में लेकर चाटने लग गई। मुझे लगा मैं उपरी हवा में तैर रहा हू और मेरा लण्ड किसी गहरे और तंग कुए में घुसता ही जा रहा है।

उसकी आँखे मेरे चेहरे के हाव भाव ही देख रही थी। उसकी तेज़ तेज़ चलती गर्म जीभ अंग अंग में मसती का अहसास जगा रही थी। करीब 10 मिनट लण्ड से खेलने के बाद वो उठी और बेड पे आकर उसने डॉगी स्टाइल में पोज़ बनाकर मुझे आगे बढ़ने का इशारा किया।

उसकी गांड का क्या कहना था यारो, एकदम दूध से भी सफेद, और इतनी नाज़ुक चमडी के जरा सा जोर के पकड़ लो तो उंगलियो के निशान बन जाये। मेने उसको कूल्हों को हाथ में लेकर सहलाया और होंठो से चूमना स्टार्ट किया। वो हर चुम्बन में मधहोश होकर मौन कर रही थी।

मेने उसकी टाँगे थोडा चौड़ी करके नीचे हाथ से चूत का जायजा लेकर अपने खड़े और उसके थूक से सने लण्ड को जेसे ही उसकी चूत के मुह पे रखकर हल्का सा झटका दिया। तो पहली बार सही जगह से लण्ड फिसल गया।

मेने दोबारा से सेट होकर जब झटका दिया मेरे लण्ड का सुपाड़ा उसकी चूत में घुस गया और उसकी हल्की सी आह निकल गयी। उसकी चूत में बहुत गर्मी थी।

जो के मुझे लण्ड से पता चल रहा था। थोडा रुककर एक झटका और मारा तो जड़ तक लण्ड उसकी चूत में घुस गया और और वो दर्द से चेहरा बनाने लगी।

मेने उसकी कमर को पकड़ कर हिलना चालू किया। अब लण्ड आसानी से अंदर बाहर हो रहा था। वह मस्ती से गांड पीछे कर कर के चूत चुदवा रही ही। तकरीबन 10 मिनट बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया।

वो बोली इस पोज़ में मेरे पति ने मुझे कभी नही चोदा। अभी थोडा आराम करो, एक और मज़ा अभी बाकी है। मैं साइड पे होकर लेट गया । शरीर पसीने से भीगा हुआ था। उसने अपने दुपट्टे से मेरा शरीर पोंछा और दूबारा चूमा चाटी शुरू करदी।

एक बार फेर लण्ड खड़ा हो गया । वो उठी और बैड  की दराज़ से वैसलीन निकाल क्र ले आई और उसको मेरे लण्ड पे लगा कर मालिश करने लगी। मैं उसके कोमल हाथो के स्पर्श से गदगद हुआ जा रहा था। इतने में वह बोली आओ अब मेरी गांड भी मारलो।

मैंने कभी पहले किसी स्त्री की गांड नही मारी थी। तो मुझे थोडा मुश्किल सा काम लगा पर उसको नही महसूस होने दिया । मेने वैसलीन की डिब्बी  ली और उसे डौगी स्टाइल में ही रहने को बोला, वो मेरी आज्ञा का पालन करती गयी।

अब मेने उसकी गांड के छेद पे वैसलीन लगाई और ऊँगली से अंदर तक चिकना करने लगा। उसकी गांड का छेड़ बहुत तंग लग रहा था। मैने उसे पूछा क्या पहले कभी गांड मरवाई है या नही।

वो बोली हाँ पतिदेव ने 2 महीने पहले मारी थी। यह आज दूसरी बार है। तो मुझे थोड़ा अच्छा महसूस हुआ के ज्यादा तकलीफ नही उठानी पड़ेगी। मेने उसकी गांड के दो ऊँचे पहाड़ों को हाथ से चौड़ा करके ऊँगली से हल्के हल्के गांड पे वैसलीन लगाने लगा।

वो भी अंदर से छेद को खोल कर मेरा काम आसान करने लग गई। जब मुझे लगा के वो गर्म हो चुकी है तो मेने अपने लण्ड के सुपाड़े पे ढेर सारी वैसलीन लगाकर उसकी गांड में हल्का सा धक दिया।

उसकी एक ज़ोरदार चीख निकल गयी और घुटनो के बल खड़ी बेड पे गिर पड़ी। मेने उसे सॉरी बोला और दुबारा उसी प्रकीर्या को दुहराया इस बार लण्ड का सुपाड़ा उसकी गांड में धंस गया और उसकी आँखों में आंसू आ गए उसने इशारे से रुकने को बोला और अपना सिर तकिये पे रखकर अपने दोनों हाथो से अपनी गांड को खोल कर मुझे झटका देने को बोला । अब गांड खुल जाने की वजह से लण्ड  आसानी से अंदर बाहर हो रहा था।

Comments

Scroll To Top