Badi Gaand Aur Bade Chuche

Click to this video!
naviforgirls 2016-02-15 Comments

नमस्कार दोस्तों मैं आपका जाना पहचाना नवदीप एक बार फिर से अपनी एक नई कहानी लेकर आया हूं आपने मेरी पिछली कुछ कहानियों का बहुत ही ज्यादा भरपूर फीडबैक दिया उसके लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद और जिन लोगों ने मेरी पहले की कहानियां नहीं पड़ी है। sex story

वह कृपया मेरे username पर क्लिक करके मेरी सारी कहानियां पढ़ ले ता कि आपको मेरे बारे में जानने में कोई दिक्कत ना हो मैं दिखने में बहुत ही हैंडसम और सुंदर हूं यह मेरे सरकारी स्कूल की हर लड़कियां मेरे से कहती थी पर उन सभी लड़कियों में से एक लड़की अलग ही थी जो की बहुत ही ज्यादा गोरी थी और उसके स्तन बहुत ही ज्यादा बड़े थे जिसे देखकर मेरे मन में उसको चोदने की भावना जाग उठी है।

मेरे को कुछ ज्यादा नहीं करना पड़ा बस 3 दिन उसके पीछे स्कूल में ही चक्कर लगाए और वह मेरे से पट गई क्योंकि मैं देखने में बहुत ही ज्यादा हैंडसम हूं और मेरी हाइट भी अच्छी है और मेरे लुंड का साइज 7 पॉइंट 6 इंच है और यह साइज हर लड़की को संतुष्ट करने के लिए काफी है।

तो मैंने उसको अपना नंबर धीरे से पकड़ा दिया और उसने पकड़ लिया और उसके बाद उसने मुझको घर जाकर एक sms किया और उसने अपने बारे में बताया कि उसका नाम मंजीत मल्होत्रा है और वह मेरे से सच्चा प्यार करती है पर मैं तो उस के सतन से सच्चा प्यार करता था।

और उसकी गांड को जब मैं देखता था तो मन करता था की बस अभी के अभी उसके कपड़े फाड़ कर इसकी गांड में अपना मोटा और लंबा लंड डाल दो हम दोनों का यह प्यार का कार्यक्रम आगे चलता रहा और कुछ दिनों के बाद मैंने उससे पूछ लिया कि क्या हम दोनों सेक्स कर सकते हैं।

तो उस ने मुझे बोल दिया पहले तो उसने बहुत ही ज्यादा नखरे की है और उसके बाद वह मान गई तो मैं अपने दोस्त से पूछ कर कोई कमरे का इंतजाम करने के लिए बोला पर हमको कहीं भी कमरा नहीं मिला तो मैंने सोचा कि क्यों ना स्कूल में ही इसका बैंड बजा दिया जाए अपने स्कूल में मुझे ऐसा मौका नहीं मिल रहा था कि मैं उसे सतन और उसकी बड़ी गांड का मजा जो है वह देख सकूं मेरी गर्लफ्रेंड की हाइट कुछ ज्यादा ही नहीं थी।

पर वह दिखने में सुंदर भी 50 पर्सेंट ही थी पर उसका रंग जो था वह काफी गोरा था और उसके इतने बड़े-बड़े सतन को देख कर हर कोई भी उसके इतने बड़े बड़े सतन को अपने मुंह में लेकर चूसना चाहता होगा और एक दिन वह दिन आ ही गया एक बार स्कूल के बाहर कुछ प्रोग्राम हो रहा था तो स्कूल के सारे स्टाफ मेंबर्स और बच्चे बाहर देखने के लिए खड़े हो गए सरकारी स्कूल में ऐसा नॉर्मल था कि सभी बच्चे कोई भी प्रोग्राम जो स्कूल के बाद होता है उसे देखने के लिए इकट्ठे हो जाते हैं।

तो सभी का ध्यान उस प्रोग्राम में था तो मैंने अपनी मंजीत मल्होत्रा को मेरी गर्लफ्रेंड परमानंद नहीं थी उसको आंख मार दी कि अंदर आ जाओ तो वह मेरे पीछे-पीछे आ गई और मैंने देखा कि वहां पर कुछ लड़के अभी भी खड़े हैं जो मेरे दोस्त थे मैंने उनको बोला कि मुझे उसकी बैंड बजा दी है और तुम लोग यहां खड़े होकर ध्यान दो कि कोई आ जाए तो मेरे को बता देना तो हम दोनों अंदर चले गए हैं।

पहले तो वह थोड़ा शर्म आ रही थी और नखरे कर रही थी तो उसने मुझे यह नहीं बताया था कि उसके पीरियड जो है वह चल रहे हैं और वह अभी सेक्स नहीं कर सकती तो मैंने उसको पहले अपने करीब आने को बोला और उसके बाद मैंने उसे जोर से पकड़ लिया और अपने गले से लगा लिया और उसके बाद मैंने धीरे से उसके लाल-लाल होठों को चूसना शुरू कर दिया है।

वह अब भी शर्म रही थी मैंने उसे और गर्म करना शुरू कर दिया और उसके बाद मैंने अपने एक हाथ धीरे से उस के बड़े बड़े स्तनों पर ले आया और मैंने देखा कि सच में उसके स्तन जिसने दिखते हैं उससे कहीं ज्यादा बड़े हैं इतनी सी उम्र में इतने बड़े स्तन संभाल कर रखना कोई मामूली बात नहीं थी तो वह मना करने लग गई कि नहीं अब मत कीजिए अब मत कीजिए तो मैंने उसे बोला कि कोई बात नहीं कर लेते हैं।

मैंने उसको भरपूर चूसा चांटा और उस के बड़े बड़े स्तन को अपने हाथों से अच्छी तरह से दबाया और इतने में सभी लोग स्कूल में आना शुरु हो गए इस बार मैंने उसको जाने दिया और सोचने लगा कि अगली बार इसको कैसे चोदा जाए पर जितना भी हुआ था उसके साथ मैं उससे बहुत ही ज्यादा खुश था मुझे ग्रीन सिग्नल था वह मिल गया है।

अब मैं उसको छोड़ सकता हूं बस मुझे एक कमरा ही चाहिए था और उसके बाद घर जाकर उसने मुझे को sms किया कि उसके पीरियड जो है वह चल रहे थे इसलिए वह सेक्स नहीं कर सकती उसने मुझे बोला कि एक हफ्ते के लिए रूक जाओ तो मैंने उसकी यह भावना को समझते हुए अपने आप को शांत किया और अपने हाथ से ही अपने लुंड को शांत कर के सो गया।

Comments

Scroll To Top